Home / राज्य / उत्तर प्रदेश / मेंकिंग इंडिया व डिजिटल इंडिया को मुँह चिढ़ाता यह लकड़ी का पुल

मेंकिंग इंडिया व डिजिटल इंडिया को मुँह चिढ़ाता यह लकड़ी का पुल

बिलग्राम, हरदोई।रिजवान अंसारी। बिलग्राम के ग्राम जरौली नेवादा के मजरा टटियन पुल जो आज भी लकड़ी का बना हुआ है जिससे क्षेत्र के लोगों का आवागमन जारी। यह लकड़ी का पुल सन 1989 का बना हुआ है जो हर वर्ष रिपेयरिंग कर के आवागमन जारी कर दिया जाता है आपको बता दें कि इस पुल के आस पास ऐसे कई गांव आते हैं। जिन गांव के बच्चे लकड़ी के पुल को पार कर दे दूसरे गांव जरौली नेवादा पढ़ने के लिए जाते हैं पढ़ाई करने के लिए यह बच्चे अपनी जान को जोखिम में डालकर पढ़ाई करते हैं। लकड़ी के पुल की बात जब हमने पुल से गुजर रहे लोगों से की तो लोगों ने बताया कि हम लोग क्या करें मजबूरी में हम लोगों को इस पुल से जाना पड़ता है। कुछ स्कूली बच्चों से भी इस विषय में मैंने जाना तो उन लोगों के चेहरों पर खौफ नजर आया एक तरफ हमारे देश के प्रधानमंत्री मेकिंग इंडिया व डिजिटल इंडिया बनाने की बात करते हैं तो वहीं यहां लकड़ी का बना पुल हकीकत बयां करता है। आखिर कितना पिछड़ा इलाका है ये आखिर लकड़ी के पुल का निर्माण पक्का पुल कब बनेगा कोई हाता हात होती है तो इसका जिम्मेदार कौन।

About Durgesh Mishra

Check Also

विधायक ने जयप्रकाश रावत की कार्यकर्ताओं से करायी भेंट

पाली(हरदोई) शोभित मिश्र। हरदोई सुरक्षित लोकसभा सीट से भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशी ने सवायजपुर …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: