Home / राज्य / उत्तर प्रदेश / चार साल पूरे होने पर भी नही सुधरी सडको की हालत

चार साल पूरे होने पर भी नही सुधरी सडको की हालत

हरदोई 25 मई। सूबे में सरकार की गद्दी संभालते ही योगी आदित्यनाथ ने एक बड़ा बयान दिया था की पूरे प्रदेश की सभी सड़कें 15 जून तक गड्ढा मुक्त हो जाएंगी। महीना अप्रैल 2017 का था। मुख्यमंत्री के आदेश को 01 साल गुजर गया, प्रदेश भर में गड्ढा भरने के नाम पर जमकर धन भी खर्च किया गया। हरदोई में लगभग 09 करोड़ खर्च हो गए, किंतु सड़कों के गड्ढे भरने के बजाय और बढ़ गए।
टूटी सड़कों के हाल बेहाल हैं। साल बीतने को है ना तो जनप्रतिनिधियों ने सुध ली और न ही अधिकारियों ने। हालात यह हैं कि ग्रामीण क्षेत्रों की नहीं मुख्य मार्गों की सड़कें भी अपनी बदहाली पर आंसू बहा रही है।यह तस्वीर संडीला से औरास होते हुए उन्नाव जाने वाली रोड की है। इस रोड के गड्ढे बड़े ही गहरे जख्म देते हैं। छोटे व बड़े वाहन चालक, सभी के लिए यह गड्ढे मुसीबत बन गए हैं।
हरदोई को उन्नाव की सीमा में जोड़ने वाला यह मार्ग कभी दुरुस्त नहीं किया गया। नतीजन गड्ढों ने तालाब का रूप ले लिया है। पर न तो किसी नेता ने ध्यान दिया और न ही किसी जिम्मेदार अधिकारी को इस सड़क से कोई मतलब है। इससे साफ है गड्ढा मुक्त और टूटी सड़कों के प्रति सरकार और उसके अधिकारी कितना संवेदनशील हैं, उनके कहने और करने में कितना अंतर है, इसका अंदाजा भी आप आसानी से लगा सकते हैं। हालांकि ऐसा भी नहीं है कि प्रदेश की सड़कों में गड्ढे भरे नहीं गए लेकिन ज्यादातर सड़कें अभी ऐसी हैं जिनके लिए गड्ढा मुक्त अभियान की बात कहना बेमानी होगी। वजह है कि न तो अधिकारियों ने दिलचस्पी ली और ना ही नेताओं ने गौर फरमाया। नतीजन राहगीरों और स्थानीय नागरिकों के लिए बड़ी समस्या का सामना करना पड़ता है। ऐसे में मरीजों को इलाज के लिए अगर जल्दी ले जाना पड़े तो शायद रास्ते में ही दम टूट जाये।

About Durgesh Mishra

Check Also

युवा मतदाताओं में पहली बार वोट डालने का जबरदस्त उत्साह

शाहाबाद, हरदोई।आशीष अवस्थी। 29 अप्रैल को मतदान होना है, इसे लेकर युवा मतदाताओं में जबरदस्त …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: