Home / राज्य / उत्तर प्रदेश / जाम की झाम से जूझता शाहाबाद

जाम की झाम से जूझता शाहाबाद

शाहाबाद/हरदोई 30 अक्टूबर।मो0गुल्फाम खां। नगर में समय के साथ साथ वाहनों की बढ़ती संख्या और बेतरतीब यातायात से लोग परेशान हैं। सदर बाजार सहित विभिन्न चैराहों पर जाम की स्थिति अब आम हो चुकी है। नगर का अन्दरूनी क्षेत्र हो या बाहरी क्षेत्र हर जगह वाहनों की लंबी कतारों के चलते आमजन को एक छोर से दूसरे छोर तक जाने में परेशानी होती है।स्टेशन रोड, सिनेमा रोड,वासितनगर रोड,बाजार का तो ये हाल है चैपहिया वाहन तो दूर की बात है आप दुपहिया वाहन व पैदल भी आसानी से नहीं चल सकते। इन दिनों दीपावली नजदीक होने की वजह से बाजार में ग्रामीण खरीददारों की भीड़ रहती है ऐसी स्थिति में बाजार से दुपहिया वाहनों का बाजार से होकर गुजरना परेशानी का सबब बन गया है। नगर में यातायात पुलिस की व्यवस्था नहीं होने की वजह से हर कहीं जाम लग जाता है। हर बार पीस कमेटी की बैठक में नागरिकों ने नगर की बदहाल यातायात व्यवस्था की दुहाई देते हुवे यहां पर्याप्त यातायात पुलिस लगाने की मांग रखी लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हो पाई। पुलिस को भी जनप्रतिनिधियों ,समाजसेवियों ने यहां की बदहाल यातायात व्यवस्था के बारे में जानकारी देते हुए पुनः यातायात पुलिस लगाने की मांग की। मामले की गम्भीरता को देखते हुए उन्होंने शीघ्र यातायात पुलिस लगाने का आश्वासन दिया मगर उस बात को बीते हुए कई वर्ष हो गए अभी तक कोई व्यवस्था नहीं हुई। नगर में यातायात व्यवस्था बिगड़ने के और भी कई कारण है जिनमे से एक कारण बाजार सहित अन्य स्थानों पर मवेशियों का विचरण करना व दूसरा बड़ा कारण बाजार में दुकानदारों द्वारा अपनी दुकानों के बाहर अस्थाई अतिक्रमण है। वही नगर में कहीं भी पार्किंग स्थल नही होने की वजह से भी यातायात व्यवस्था प्रभावित हो रही है। इसके अलावा फल सब्जी व अन्य सामग्री बेचने वाले ठेलों तथा टेम्पो व खाली ठेलों का अव्यवस्थित खड़ा रहना भी इस समस्या का एक कारण है। ऊपर से बैंक ग्राहकों का बाजार में सड़क पर वाहनों को आड़ा तिरछा खड़ा करना भी परेशानी का कारण है। घन्टाघर से बड़ी बाजार तक घण्टों जाम के झाम से जूझते रहना आम बात हो गई है। लेकिन जब से पालिका ने नो एंट्री व्यवस्था बंद की है तब से यातायात व्यवस्था बुरी तरह बिगड़ गई है। पालिका को चाहिए फिर से नो एंट्री व्यवस्था शुरू कर लोगों को राहत प्रदान करे।
जुमे के दिन घासमंडी तिराहा से घण्टाघर तक इतनी अधिक जाम होती है जिससे नमाजी को नमाज पढ़ने के लिए जामा मस्जिद जाना कितना मुश्किल होता है जामा मस्जिद गेट के बाहर फुटपाथ की दुकाने और वहाँ पर खड़े रिक्शे इरिक्शे तथा ठेलियाँ मस्जिद जाने का रास्ता बन्द कर देती हैं। बस स्टैण्ड, तहसील कार्यालय के बाहर, बड़ी बाजार तिराहा एसबीआई बैंक के बाहर, घण्टाघर, सदर बाजार, सब्जीमंडी गेट, बैंक ऑफ इंडिया चैक के बाहर ट्रैफिक प्वाइंट हैं इसके अलावा हरदोई-शाहजहांपुर मार्ग पर भारी यातायात दबाव बना रहता है। हालांकि इसे नियंत्रण करने के लिए गत महीनों भारी वाहनों के प्रवेश पर रोक लगाई गई थी लेकिन कुछ दिनों बाद ही ये व्यवस्था अपने मूल रूप में आ गई।
नगर की यातायात व्यवस्था को सुधारने के लिए प्रशासन को सर्व प्रथम बाजार में दुकानों के बाहर होने वाले अस्थाई अतिक्रमणों को हटाने का कोई स्थाई समाधान करना चाहिए। वहीं पालिका प्रशासन को चाहिए कि वे बाजार में खड़े होने वाले हाथ ठेलों व टेम्पो को व्यवस्थित करे साथ ही इधर उधर विचरण करने वाले मवेशियों की धरपकड़ करे। वहीं ट्रैफिक पुलिस की पर्याप्त व्यवस्था हो, शहर के मुख्य स्थानों पर पार्किंग स्थल हो तभी शहर की यातायात व्यवस्था को बहाल किया जा सकता है।

About Durgesh Mishra

Check Also

युवा मतदाताओं में पहली बार वोट डालने का जबरदस्त उत्साह

शाहाबाद, हरदोई।आशीष अवस्थी। 29 अप्रैल को मतदान होना है, इसे लेकर युवा मतदाताओं में जबरदस्त …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: