Home / राज्य / उत्तर प्रदेश / फर्जी टीम बनाकर ठगी करने वालेे गिरफ्तार

फर्जी टीम बनाकर ठगी करने वालेे गिरफ्तार

मल्लावां /हरदोई।अभिनव मिश्रा। फर्जी तरीके से जिला आबकारी अधिकारी टीम बनकर ठगी करने के आरोप में पुलिस ने पांच लोगों को गिरफ्तार किया है। पकड़े गए आरोपियों से दो फर्जी मोहर, परिचय पत्र समेत एक लाइसेंसी बंदूक भी बरामद हुई है। सभी आरोपियों के विरुद्ध जालसाजी कर अवैध वसूली करने के आरोप में मुकदमा दर्ज किया गया है।
कोतवाली क्षेत्र गांव बेरिया नजीरपुर में देशी शराब की दुकान है। शराब की दुकान पर मुन्नीलाल पुत्र गंगाराम निवासी रुकनापुर थाना माधौगंज सेल्समैन है। गुरुवार की शाम करीब साढ़े पांच बजे सर्वेश पुत्र राजमंगल, सुदीप सिंह पुत्र रामवीर सिंह निवासी राघौपुर, विकास पुत्र रमेश, शिवम सिंह पुत्र सर्वेश कुमार निवासी नेवादा राघौपुर, उदयप्रताप पुत्र विजय प्रताप निवासी मगरहा देशी शराब की दुकान पर पहुँचे। सभी आरोपी शराब की दुकान पर जाकर जिला आबकारी अधिकारी की टीम बताकर दुकान में दाखिल होकर जांच पड़ताल करने लगे और सेल्स मैन को नकली शराब बेचने के आरोप में फसाने की बात कहकर 20 हजार रुपये मांगने लगे। जिसपर सेल्समैन को शक हुआ तो सेल्समैन ने अपने साझेदार उमेश पुत्र भुजवीर सिंह निवासी रुकनापुर को सूचना दी। जिसपर उमेश भी मौके पर पहुँचे और फर्जी लोगो को देखकर पुलिस को सूचना दी। सूचना पर कोतवाल दीपक सिंह रघुवंशी, दरोगा योगेंद्र सिंह, सिपाही मनोज कौशिक, दिनेश सिंह, वीर सिंह, अशोक कुमार, विपिन कुमार मौके पर पहुँचकर सभी आरोपियों को हिरासत में लेकर आए।
कोतवाल दीपक सिंह रघुवंशी ने बताया कि पकड़े गए आरोपियों से एक बोलेरो गाड़ी, एक दोनाली लाइसेंसी बंदूक एक इलेक्ट्रॉनिक तराजू, कांच दो जार जिसमे छह हाइड्रो मीटर, एक थर्मामीटर, एक एंटीकरप्शन का परिचय पत्र जबकि दूसरे पहचान पत्र पर भारत पेटोलियम कारपोरेशन लि0 भारत सरकार उपक्रम लिखा है। एक रसीद बुक, दो मोहर जिसमे एक पर प्रतिनिधि शाशन उत्तर प्रदेश जबकि दूसरी मोहर पर आर्थोसाइड सैनेटरी मिनिस्ट्री ऑफ पेट्रोलियम एंड नेचरल गैस अंकित है। आईटीआर से संबंधित पत्र, भारत पेट्रोलियम कारपोरेशन के पत्र, डेनसिटी चार्ट बुक, खाद्य पदार्थ मानक सूची, पेटोल पम्पो से सम्बंधित पेट्रोल पमो की सूची, मुख्यमंत्री से संबंधित दो पत्र, गुणवत्ता जांच संबंधी 10 पत्र, बरामद किए गए हैं। पुलिस ने सभी आरोपियों के विरुद्ध जालसाजी कर लोगो से ठगी करने के आरोप, आर्म्स एक्ट व अन्य संबंधित धाराओं में दरोगा योगेंद्र सिंह की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर आरोपियों को जेल भेजा गया है।
कोतवाल ने बताया कि पकड़े गए आरोपियों से पूछताछ की गई तो आरोपियो ने बताया कि वह लोग काफी दिनों से इसी तरह से टीम बनाकर क्षेत्र व आसपास की पेट्रोल पंपो, दूध डेरी, शराब की देशी दुकानों, खाद्य पदार्थो की दुकानों को संबंधित अधिकारी बनकर जांच कर फसाने का आरोप लगाकर काफी दिनों से ठगी करते रहे हैं।
पकड़े गए मुख्य आरोपी सर्वेश सिंह पुत्र राजमंगल सिंह की एक दोनाली बंदूक व बोलेरो गाड़ी बरामद की गई है, जबकि बंदूक को अपने गनर शिवम सिंह को दे रखी थी। उसी से पुलिस ने बरामद की है। फर्जी जिला आबकारी टीम में पकड़े गए आरोपी में से मुख्य आरोपी सर्वेश सिंह ने शिक्षा बताने से इनकार कर दिया जबकि शिवम हाईस्कूल, विकास इंटरमीडिएट, सुदीप कक्षा 8, उदयप्रताप कक्षा 5 तक पढ़े है। जिसमे से एक आरोपी विकास अपने आपको पत्रकार बताता है।

About Durgesh Mishra

Check Also

विधायक ने जयप्रकाश रावत की कार्यकर्ताओं से करायी भेंट

पाली(हरदोई) शोभित मिश्र। हरदोई सुरक्षित लोकसभा सीट से भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशी ने सवायजपुर …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: