Home / राज्य / उत्तर प्रदेश / 24 घंटे में दैवी आपदा सहायता उपलब्ध करायी जाये- जिलाधिकारी

24 घंटे में दैवी आपदा सहायता उपलब्ध करायी जाये- जिलाधिकारी

हरदोई 19 अप्रैल। आपदा प्रबन्ध समिति बैठक की अध्यक्षता करते हुए जिलाधिकारी पुलकित खरे ने अग्नि शमन अधिकारी को निर्देश दिये कि अग्नि शमन वाहनों के टैंक फुल कराकर तहसीलदार द्वारा बताये गये स्थान पर खड़ा कराये तथा अग्नि वाहन पर तैनात हवलदार/कर्मचारी के नाम व मोबाइल नम्बर तहसीलदारों को उपलब्ध करायें और सवायजपुर में कोई वाहन नही है इसलिए हरदोई में दो वाहनों में से एक अग्नि शमन वाहन को सवायजपुर तहसील में तैनात किया जायें और अग्नि शमन पर तैनात कर्मचारी हर समय तैयार रहेगें तथा तहसीलदारों द्वारा निर्धारित किये गये स्थानों पर प्रातः08 बजे अग्नि शमन वाहन कर्मचारियों सहित पहुंच जायें।
जिलाधिकारी ने तहसीलदारों को निर्देश दिये कि गांवों में तैनात लेखपाल एवं सेके्रटरी को सचेत कर दिया जाये कि वह गांवों में आग लगने की जानकारी होने के बाद तत्काल वहां पहुंचेगें और गांव वासियों एवं अग्नि शमन वाहनों द्वारा आग पर काबू करायेगें और पीड़ित परिवार को 24 घंटे में दैवी आपदा सहायता उपलब्ध करायेगें। उन्होनें ने निर्देश दिये कि लेखपाल एवं सेके्रटरी यह भी सुनिश्चित करेगें कि गांव के आस-पास जो तालाब, पोखर है उन्हें नहर, सिंचाई एवं नलकूप विभाग के माध्यम से भराना सुनिश्चित करें। उन्होने नहर, सिचाई एवं नलकूप विभाग के अधिशासी अभियन्ताओं को निर्देश दिये कि ग्राम एवं ग्राम पंचायतों में स्थित अधिक से अधिक तालाब एवं पोखरों को तीन दिन में भरवाना सुनिश्चित करें तथा भरे गये तालाबों की फोटो सहित आख्या उपलब्ध करायेगें।
बिजली के तारों के टूटने एवं शाट सक्रिट से लगने वाली आग के सम्बन्ध में जिलाधिकारी ने अधिशाषी अभियन्तंत्र को निर्देश दिये कि गांवों के खेतों से निकली बिजली की खराब एवं जर्जरों तारों को तत्काल बदला जाये और उस क्षेत्र के विद्युत विभाग एसडीओ लगातार गांवों की लाइनों पर नजर रखेगें। उन्होने तहसीलदारों को निर्देश दिये कि गांवों लेखपाल एवं सेके्रटरियों के नाम एवं मोबाइल नम्बर अग्नि शमन अधिकारी, विद्युत, नहर, सिंचाई एवं नलकूप विभाग के अधिकारियों को नोट करा दें ताकि किसी भी क्षेत्र में आग लगने वाले स्थान पर पता कर आसानी से पहुंच सके। जिलाधिकारी ने तहसीलदारो को निर्देश दिये कि गांव में कोई भी हैण्ड पम्प खराब नहीं होना चाहिए और अगर किसी गांव में खराब हैण्ड पम्प होने की जानकारी मिली तो लेखपाल एवं सेके्र्रटरी पर सीधे कार्यवाही की जायेगी।
श्री खरे ने कहा कि कल की अग्नि घटनाओं के स्थानों पर समय से अग्नि शमन वाहन एवं लेखपाल व अन्य कर्मचारियों के समय से न पहंचने पर वह संतुष्ट नही है, इसलिए सभी विभाग के अधिकारी समन्वय बनाकर गांवों में लगने वाली आग को काबू करने का प्रयास करेगें। उन्होेने अग्नि शमन अधिकारी को निर्देश दिये कि शाहाबाद,बिलग्राम,सण्डीला एवं हरदोई के अग्नि शमन स्टेशनों के कन्ट्रोल रूम के नम्बर भी संबंधित अधिकारियों को उपलब्ध करायें। जिलाधिकारी ने मण्डी समिति एवं विद्युत विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिये कि जिन लोगों के गेहंू के खेत आग से जले है उन्हें समय से मुआवजा दिलाना सुनिश्चित करें।
बैठक में अपर जिलाधिकारी विमल कुमार अग्रवाल ने भी सम्बन्धित अधिकारियों से कहा कि जिलाधिकारी द्वारा दिये गये निर्देशों का अक्षरशाह पालन किया जाये और अग्नि घटनाओं को दृष्टिगत सभी अगले एक माह तक अपने-अपने क्षेत्रों में सतर्क रहें। इस अवसर पर जिला विकास अधिकारी राजित राम मिश्र सहित तहसीलदार, नायब तहसीलदार एवं मण्डी समिति के प्रतिनिधि आदि मौजूद रहें।

About Durgesh Mishra

Check Also

नगर का ऐतिहासिक सहजन कुआं बना कूड़ादान

बिलग्राम 12 नवम्बर। आनन्द अवस्थी/शब्बीर। नगर की ऐतिहासिक धरोहरों में से एक सहजन कुआं अपनी …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: