Home / राज्य / उत्तर प्रदेश / टिकट कटने के बाद बीजेपी सांसद का छलका दर्द

टिकट कटने के बाद बीजेपी सांसद का छलका दर्द

हरदोई। द लास्ट पेज संवाद।उत्तर प्रदेश के 6 सांसदों में 4 दलित सांसदों का टिकट कटा। क्या दलित होने की सजा मिली। सबसे निचले पायदान वाले जिले को 14 वे स्थान तक पहुचाने में 24 हजार करोड़ की योजनाओं को जनपद में लाया। पार्टी बिकास के मुद्दे पर चल रही थी मुझे नही लगता विकास में कही से मेरी कोई कमी रही। भारतीय जनता पार्टी की कल घोषित पहली सूची में अपना नाम कटने से हरदोई के सांसद अंशुल वर्मा बेहद आहत हैं। अपने दिए बयान में उन्होंने कहा कि वे अपना टिकट कटने से हैरान हैं और समझ नहीं पा रहे हैं कि उनका टिकट क्यों काटा गया। उन्होंने कहा कि वे प्रधानमंत्री की तरह हरदोई के चैकीदार हैं और उन्होंने पिछले 5 सालों में हरदोई की जनता की काफी सेवा भी की है। जो हरदोई उत्तर प्रदेश में आखिरी पायदान पर था, उसे वे सरकार और उनके व्यक्तिगत प्रयासों से 14वें स्थान पर लाए हैं, लेकिन इसके बावजूद पार्टी ने उनके साथ अन्याय किया है। सांसद ने कहा पहली सूची में यूपी के जिन छह मौजूदा सांसदों का टिकट काटा गया है उनमें से चार दलित हैं। उन्होंने पार्टी हाई कमान से सवाल किया आखिर हमसे क्या अपराध हो गया जो अधिकांश हम दलितों का टिकट काटा गया। पार्टी के निर्माण को हम स्वीकार करते हैं और जिले में मजबूत डंडा लेकर चैकीदार की तरह देखभाल करूंगा।

About Durgesh Mishra

Check Also

युवा मतदाताओं में पहली बार वोट डालने का जबरदस्त उत्साह

शाहाबाद, हरदोई।आशीष अवस्थी। 29 अप्रैल को मतदान होना है, इसे लेकर युवा मतदाताओं में जबरदस्त …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: